कलछीना टाईम्स 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश अपराध प्रदेश बन गया है भारतीय जनता पार्टी ने रामराज लाने का वादा किया था लेकिन पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या ने उत्तर प्रदेश सरकार के रामराज के सभी दावों की पोल खोल दी है भारतीय युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने कहां पत्रकार विक्रम जोशी जी को मेरी भावपूर्ण श्रद्धांजलि और उनके परिवारजनों के प्रति  मेरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूँ उन्होंने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा भाजपा ने उत्तर प्रदेश में रामराज का वादा किया था लेकिन बना दिया जंगलराज भारतीय जनता पार्टी और योगी आदित्यनाथ उन बच्चियों की आंख में आंख डालकर बता पाएंगे कि उनके पिता की हत्या इसलिए हुई कि वो  अन्याय के खिलाफ लड़ना चाहते थे उत्तर प्रदेश में सच बोलने वालों को डराया धमकाया और मारा जा रहा है कानून और व्यवस्था की असफलता को अनदेखा नहीं किया जा सकता है और योगी आदित्यनाथ को इस्तीफा दे देना चाहिए श्रीनिवास ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दिनदहाड़े कानून की धज्जियां उड़ते देख एक ही सवाल उठता है कि यहां कानून का शासन नहीं बल्कि जंगलराज है क्या इस जंगलराज के लिए चुनी गयी थी भाजपा की योगी सरकार पत्रकार विक्रम जोशी की दिनदहाड़े हत्या कोई अकेली घटना नहीं है अन्याय के खिलाफ आवाज उठाने वालों को कुचल देना और ऐसे अपराधियों को सत्ता का संरक्षण मिलना यह बताता है कि उत्तर प्रदेश सरकार सच्चाई का गला घोट देना चाहती है विक्रम जोशी ने पुलिस से लगातार मदद की गुहार लगाई पर योगी जी की पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की इसका जिम्मेदार कौन है एनसीआरबी के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में अराजकता की स्थिति है और यहां कानून का शासन नहीं बचा है बल्कि जंगलराज बन चुका है उत्तर प्रदेश में रोजाना 46 महिलाओं का अपहरण होता है 12 महिलाएं प्रतिदिन ज्यादती की शिकार होती हैं जबकि 162 महिलाएं रोजाना किसी न किसी प्रकार की हिंसा झेलती हैं उत्तर प्रदेश अपराध  और जंगलराज का यह आलम है कि योगी आदित्यनाथ के शासन में 11 हत्याएं प्रतिदिन हो रही है यूपी में अपराधियों का मनोबल एकदम चरम पर है क्योंकि यूपी सरकार की तरफ से लगातार अपराधियों पर नरम अपराध के आंकड़े छिपाने अपराधियों के संरक्षण देने जैसे संकेत दिए गए हैं जब अपराध के मुद्दों पर कोई सवाल उठाता है तो भाजपा का मकसद होता है कि कैसे विपक्ष के लोगों पर मुकदमा डाला जाए एसोसिएशन फॉ डेमोक्रेटिक रिसर्च के अनुसार उत्तर प्रदेश भाजपा के 312 विधायकों में से 114 मतलब 37 प्रतिशत के खिलाफ अपराध के मामले दर्ज है इनमें से 83 विधायक बलात्कार हत्या और अपहरण जैसे संगीन अपराधों में आरोपी है यह क्या बचाएंगे कानून व्यवस्था को श्रीनिवास ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में किस तरह से पत्रकारिता का दम घोटा जा रहा है सच्चाई उजागर करने वाले तमामों निर्भीक पत्रकारों पर सरकार खुद मुकदमे दर्ज करवा रही है या उनकी दिनदहाड़े हत्या की जा रही है यह सच का दामन नहीं तो और क्या है लखीमपुर के रमेश मिश्रा की दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी इसके अलावा भी जिन पत्रकारों की आवाज दबाने का प्रयास उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने क्या है इस प्रकार है news1 इंडिया के मनीष पांडे ने निम्नस्तरीय पीटीआई किट  के मामले का उजागर किया था बदले में सरकार ने उनके पीछे अपनी एसटीएफ पुलिस लगा दी स्क्रॉल की सुप्रिया शर्मा पर मोदी सरकार के मुकदमा दर्ज कर दिया कयोकि उन्होने मोदी जी के द्वारा वाराणसी में गोद लिए हुए जयपुर गांव की असलियत बताई पवन जयसवाल जिन्होंने मिर्जापुर में आंगनवाड़ी में बच्चों को नामक रोटी खिलाते हुए दिखाया और उसी के कारण मुकदमा झेला  फेसबुक पर सरकार के विरोध में लिखने वाले प्रशांत कनोजिया को आखिरकार उच्चतम न्यायालय से ही राहत मिली बिजनौर में पॉच पत्रकारों के खिलाफ उत्तर प्रदेश सरकार ने मुकदमा दर्ज किया क्योंकि उन्होंने जातिगत आधार पर हो रहे भेदभाव का सच  जनता को दिखाना चाहा अपराधियों को संरक्षक देने वाली उत्तर प्रदेश सरकार नोएडा के पत्रकारों पर गैंगस्टर एक्ट लगा चुकी है योगी आदित्यनाथ के जगलराज में व्याप्त भ्रष्टाचार को कभी-कभी उनके विधायक भी उजागर करते हैं हरदोई के विधायक श्याम प्रकाश सीतापुर से विधायक राकेश राठौर ने भी आपके शासन की असलियत सामने रखी थी निरंतर बढ़ते अपराध और जंगलराज पर आपकी चुप्पी बडे सवाल खड़ा करती है और सच पूछिए तो यह अपराध कैसे नहीं बढ़ेगा आजकल अपराध का हर आरोपी या तो भाजपा में होता है या फिर उसके साथ उसके संबंध होते हैं बुलंदशहर मैं शहीद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के लड़के को अभी तक आपने नौकरी नहीं दी उनको न्याय मिलना तो दूर भाजपा ने हत्याकांड के मुख्य आरोपी शिखर अग्रवाल को अपनी पार्टी का पदाधिकारी ही बना दिया पीएम जनकल्याण योजना अभियान का महामंत्री श्रीनिवास ने सवाल करते हुए पूछा है कि इन सवालों से कैसे और कब तक बचेंगे योगी जी उत्तर प्रदेश सरकार पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा भी है कि यूपी में जंगलराज है और सरकार ही नहीं चाहती कि वहां कानून हो यह सिस्टम की विफलता है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आपकी चुप्पी इन सवालों का उत्तर नहीं है बेहतर है की उत्तर प्रदेश की जनता के हित में आप पद से इस्तीफा दें
Share To:

Post A Comment: