राजस्थान में चल रहे सियासी घटनाक्रम पर दिनेश गुर्जर का सचिन पायलट को लेकर बड़ा बयान सामने आया है । इस बयान से सचिन पायलट के सिंधिया की राह पर चलने के संकेत मिल गए हैं. उन्होंने कहा कि अशोक गहलोत की सरकार अल्पमत में है । 30 कांग्रेसी और निर्दलीय विधायक सचिन पायलट के पक्ष में है बता दें कि सचिन पायलट और सीएम अशोक गहलोत के बीच बतभेद अब जनता के सामने आ गया है. नाराज सचिन पायलट पार्टी आलाकमान से मुलाकात करने के लिए दिल्ली पहुंचे थे उनके साथ कुछ विधायक भी हैं दिनेश गुर्जर ने ट्विटर अकाउंट से कहा कि सचिन पायलट को दरकिनार किए जाने से मैं दुखी हूं. ये दिखाता है कि कांग्रेस में
काबिलियत और क्षमता की कोई अहमियत नहीं है
दिनेश गुर्जर जिला अध्यक्ष अखंड भारत गुर्जर महासभा व सपा नेता ने कहा
कांग्रेस के जिन 5 मीणा विधायकों ने सोमवार को गहलोत की मीटिंग में हिस्सा नहीं लिया, उनमें रमेश मीणा और हरीश मीणा भी शामिल हैं। रमेश मीणा तो दौसा से बीजेपी के टिकट पर सांसद भी रह चुके हैं और अभी देवली-उनियारा सीट से कांग्रेस के विधायक और राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं। इन मीणा विधायकों ने खुलेआम पार्टी आलाकमान के आदेशों को जिस तरह धता बताया है, यह इस बात का सीधा-सीधा संकेत है कि उन्होंने पालयट को अपने नेता के तौर पर स्वीकार कर लिया है। कुछ साल पहले तक इस बारे में सोचा भी नहीं जा सकता था क्योंकि आरक्षण के मुद्दें पर गुर्जर और मीणा समुदाय के बीच दुश्मनी की हद तक कटुता रही है। कांग्रेस पार्टी को विचार-विमर्श करके अपने फैसले को दोबारा से सोचना चाहिए और अगर वह गुर्जर समाज का इस तरीके से अपमान करेगी तो समस्त गुर्जर समाज आने वाले चुनावों में कांग्रेस पार्टी का बहिष्कार करेगा और कांग्रेस को आईना दिखाने का कार्य करेगा दिनेश गुर्जर ने कहा कि वह विशेष रूप से समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को इस संबंध में एक चिट्ठी लिखकर सारे प्रकरण से अवगत कराने का काम करेंगे और वह समाजवादी राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय श्री अखिलेश यादव जी से इस पूरे प्रकरण में हस्तक्षेप करने के लिए कहेंगे जिससे गुर्जर समाज की हो रही अनदेखी कांग्रेस पार्टी के द्वारा की जा रही है और आने वाले समय में गुर्जर समाज का राजस्थान के अंदर कांग्रेस को छोड़कर अन्य पार्टियों की तरफ रुझान ना हो जाए इसके लिए वह प्रयास करेंगे की अगर सचिन पायलट को समाजवादी पार्टी ज्वाइन करा कर राजस्थान में एक बड़ी जिम्मेदारी दी जाए तो समस्त गुर्जर समाज में राष्ट्रीय अध्यक्ष समाजवादी पार्टी अखिलेश यादव के लिए एक बहुत अच्छा मैसेज जाएगा जिससे समस्त गुर्जर समाज आने वाले चुनाव में समाजवादी पार्टी को वोट करेगा
Share To:

Post A Comment: